Hypertension Alert – हाइपरटेंशन को कंट्रोल करने के उपाय!

Posted by

जानिए कितनी खतरनाक है हाइपरटेंशन की बीमारी और कैसे करें बचाव? 

जानिए कितनी खतरनाक है हाइपरटेंशन की बीमारी और कैसे करें बचाव? Hypertension Alert - Measures to Control Hypertension
जानिए कितनी खतरनाक है हाइपरटेंशन की बीमारी और कैसे करें बचाव?

भारत में आज के समयबहुत से शोध में देखने को मिला है कि हमारे देश में लगभग 8 करोड़ लोग हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित है। (Hypertension Alert – Measures to Control Hypertension) हैरानी वाली बात तो ये है कि वैज्ञानिकों ने इसे समय से पहले मुत्यु होने वैश्विक कारण माना है। साथ ही कई खतरानाक बीमारियों जैसे – हार्ट फेल्योर, दिल का दौरा, किडनी फेल्योर और लकवा का कारण बनता है। तब ऐसे में सबसे जरूरी है कि, हाई ब्लड प्रेशन जैसी गंभीर समस्या से कैसे बचा जा सकता है? तो आइए जानते हैं हाइपरटेंशन के बारें में।

हाइपरटेंशन कितना खतरनाक है? (Hypertension Alert – Measures to Control Hypertension)

इससे हमारी बॉडी को काफी नुकसान होता है आइए इनके बारे में जानते हैं – 

1. हाइपरटेंशन की स्थिति में हार्ट को अधिक ब्लड पंप करना पड़ता है। जिस वजह से उस पर अत्यधिक प्रेशर बन जाता है। हाई बीपी के कारण से कोरोनरी आर्टरी डिजीज और अन्य बीमारियां हो सकती है। 

2. जिस तरह हमारे हार्ट की सेहत के लिए रक्त का फ्ले सामान्य और हेल्दी रहना जरूरी है, उसी तरह ये हमारे दिमा के विकास के लिए भी बेहद जरूरी है, लेकिन जब ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है तो दिमाग के एक हिस्से में ऑक्सीजन बाधित हो जाती है, जो स्ट्रोक का कारण बनती है। 

3. किडनी शरीर में एक फिल्टर का काम करती है और रक्त में मौजूद गंदगी को बाहर निकालती है, लेकिन हाइपरटेंशन के कारण किडनी भी फेल हो जाती है। हाई ब्लड प्रेशर की वजह से किडनी तक जाने वाली बड़ी और धमनियां क्षतिग्रस्त हो जाती है। तब इस स्थिति में किडनी रक्त को फिल्टर नहीं कर पाती और उसमें वेस्ट जमा हो जाता है। 

4. इसमें व्यक्ति को डिमेंशिया यानी की भूलने की बीमारी हो जाती है। साथ ही हाई बीपी से ब्रेन हेमरेज का खतरा भी 50 फीसदी तक बढ़ जाती है। 

5. हाई ब्लड प्रेशर की वजह से किडनी के अलावा आंखों और बालों पर भी काफी बुरा प्रभाव पड़ता है। हाई ब्लड प्रेशर के कारण आंखों में मौजूद वेसल्स डैमेज हो जाती है। जिस वजह से रेटिना तक ब्लड नहीं पहुंच पाता है। तब इस स्थिति में आंख से ब्लीडिंग होने लगती है और आंखों की रोशनी भी कम होती जाती है।   

हाइपरटेशन से बचाव कैसे करें? (Hypertension Alert – Measures to Control Hypertension)

हाइपरटेशन से बचाव कैसे करें?
हाइपरटेशन से बचाव कैसे करें?

नीचे दिए हुए बचाव को अपनाकर हाइपरटेंशन से बच सकते हैं – 

1. लाइफस्टाइल में बदलाव (Lifestyle changes) 

आप अपनी जीवनशैली को नियमित बनाए रखें। जीवन में अनुशासन का पालन करें। हर चीज को समय पर करें जिससे आपको मानसिक तनाव से न गुजरना पड़े। 

2. व्यायाम करें (exercise daily)

बॉडी को फिट रखना काफी जरूरी है, रोजाना व्यायाम करने से ना सिर्फ बॉडी में एनर्जी का प्रवाह होता है बल्कि फालतू फैट भी शरीर से कम होता है। ये शरीर को सुडौल रखने में सहायता करता है और व्यायाम से एक्सरसाइस से ब्लड प्रेशर का लेवल भी नियमित बना रहता है। 

3. संतुलित आहार (balanced diet)

नमक भोजन के स्वाद बढ़ाने में काफी जरूरी है, लेकिन हमें नमक की एक निश्चिक मात्रा ही अपने आहार में लेनी चाहिए। अगर नमक का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो ब्लड प्रेशर  की समस्या होती है। वैसे भी जो लोग हाइपरटेशन से जूझ रहे हैं उन्हें नमक का सेवन करने से मना किया जाता है। साथ ही जिन लोगों को हाईपरटेंशन नहीं भी है उन्हें भी नमक इस्तेमाल बहुत कम करना चाहिए। आपको अपने आहार में सब्जियां, फल, मांस और दूध को शामिल करना एक अच्छा विकल्प है। 

4. पर्याप्त नींद लें (get enough sleep)  

ब्लड प्रेशर की समस्या से बचने के लिए पर्याप्त नींद का होना बहुत आवश्यक है। ऐसे कई मामले सामने आए हैं जहां देखने को मिला है कि जो लोग पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं उन्हें हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाती है, इसलिए अपनी नींद को घंटों से समझौता बिल्कुल भी न करें। 

यह भी पढ़े: नींद की कमी: लक्षण, कारण, प्रभाव और रोकथाम

5. मानसिक तनाव को कम करें (reduce mental stress)

आजकल हर घर कोई न कोई स्ट्रेस से जूझ रहा है। तब उन्हें तनाव से भरपूर जिंदगी में ब्लड प्रेशर का सही न होना एक आम समस्या हो गई है। ऐसे में मेंटल स्ट्रेस से बचने के लिए कुछ ऐसी चीजों को करने की आवश्यकता होती है जिससे हम स्ट्रेस से बच सकें। इसके अलावा मानसिक स्ट्रेल को कम करने के लिए योगा करनी चाहिएय़ इसकी के सथा संगीत सुनकर भी हम अपने दिमाक के शांत कर सकते हैं। 

स्वस्थ्य सम्बंधित जानकारियों के लिए टीवी Health को Google News | Twitter | Facebook पर फॉलो करे ताकि आप एक भी जानकारी मिस न कर पाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *